अपने आस पास मौजूद हथियारों की जानकारी होती तो क्या डॉक्टर नारंग की पत्नी उनकी मदद कर पाती ? आपको पता है अपने आस पास मौज़ूद हथियारों के बारे में ? ऐसे हथियार जो ना मेटल डिटेक्टर टेस्ट में रोके जा सकते हैं ना उन्हें देख कर भी किसी को आपत्ति हो ?

नहीं पता ?

तो फिर क्या लेकर लड़ेंगी आप अपने परिवार के लिए ? लड़कियां तो शारीरिक ताकत में पुरुषों से कमज़ोर भी होती है ना ? आपको तो कोई ऐसा हथियार चाहिए जो वजन में कम हो और चलाने में घातक | उसके बाद चलाने की सुविधा भी चाहिए | पता है कोई ऐसा हथियार ?

अपने किचन के चाकू का नाम मत लीजियेगा | जांच के देख लीजिये, उसका प्लास्टिक का हैंडल आपके हाथ में रह जायेगा और स्टील का धार वाला टुकड़ा टूट के नीचे गिर जायेगा | टूटा हुआ चाकू आपने देखा है | आपको पता है वो हथियार डराने के काम आ सकता है | चलाने के काम नहीं आएगा |

तो मैडम जी ऐसा सबसे आसान हथियार है आपकी स्कूटी या साइकिल के ब्रेक वायर का कवर | वही काले रंग का खोल जो ब्रेक वायर पर लगा होता है | इसे बेल्ट से ज्यादा आसानी से चलाया जा सकता है | दाहिने हाथ की मुट्ठी में मजबूती से पकडिये, मुट्ठी बाएं कान के पास लाइए, और पूरी तेजी से नीचे की तरफ खींचिए | ये बेल्ट, या हंटर की तरह चलता है | ये बेल्ट से कहीं घातक है, खाल खींच लेने के लिए काफ़ी होता है |

ओह हाँ ! अपने आस पास के आवारा कुत्तों पर चला चला के अभ्यास कर लीजियेगा इसका | क्योंकि अचानक किसी दिन आदमी पर चलाना पड़ा तो आपकी दया, ममता जैसी मूर्खतापूर्ण भावनाएं आपको ऐसा करने नहीं देंगी | Try कर के देख लीजिये, कुत्ते पर चलाने में भी आपको OMG टाइप फीलिंग आएगी ! बिना प्रैक्टिस इंसान पर तो जैसा चला लेंगी आप | फिर आप अपने परिवार को उतना ही बचा पाएंगी जितना डॉक्टर नारंग की पत्नी अपने पति को बचा पायी थी |

अभ्यास कीजिये | तैयार रहिये | बाकी अहिंसावादी और सुपर सेक्युलर हैं आप तो जरूर रहिये देवी जी | दिल्ली में बलात्कार तो होते नहीं, विकासपुरी में भी कुछ नहीं हुआ है |

दंगे और आत्मरक्षा

SHARE
Previous articleबाहुबली : शतघ्नी
Next articleओंके ओबव्वा
आनंद मार्केट रिसर्च में काम करते हैं, और शब्दों में रूचि रखते हैं। किताबों के अपने शौक में वो खूब सारी किताबें पढ़ते हैं। लोगों से बातचीत, समाजशास्त्र, पौराणिक कथाओं, इतिहास से वो अक्सर रोचक कहानियां ढूंढ लाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here