किताबों पर बीसियों पोस्ट डालते डालते मेरा ध्यान गया कि एक किताब The Invisible Man भी होती है। ये सी.बी.एस.सी. की बारहवीं क्लास में सिलेबस में होती है। आम तौर पर मैथ्स, फिजिक्स जैसे सब्जेक्ट बिहार में बच्चों को ट्यूशन-कोचिंग में भेज कर भी पढ़ा दिए जाते हैं लेकिन इंग्लिश अलग से पढ़ाया नहीं जाता। इसका नतीजा ये होता है कि जब बारहवीं के मार्क्स आयेंगे तो मेन सब्जेक्ट में तो नंबर होंगे लेकिन इंग्लिश में मार्क्स कम होने की वजह से उसका एडमिशन कई बड़े (स्टीफेंस जैसे) कॉलेज में नहीं हो पायेगा।

 

मेरी कोशिश है की क्राउड सोर्सिंग (crowd-sourcing) के जरिये कम से कम इस एक किताब को हिंदी पट्टी के लिए आसान बनाया जा सके। लिंक में इस किताब पर बनाया पॉवरपॉइंट प्रेजेंटेशन है, जो की इन्टरनेट से जोड़ तोड़ के बना देना आसान था (मेरे लिए, सबके लिए इतना ही आसान होगा या नहीं ये पता नहीं)। इसमें समय समय पर, स्रोतों की उपलब्धता के हिसाब से, और सुधार जारी रहेंगे। अगर आप इसे देखकर खुद इसपर सलाह दे सकते हों या किसी ऐसे को दिखा सकते हों जो ये बता सके कि इसमें और क्या जोड़ा-घटाया, या सुधार किया जा सकता है तो आपकी सलाह का स्वागत है।

The Invisible Man

SHARE
Previous articleअग्नि की उड़ान… His last bequest to the Nation
Next articleजी.एस.टी. और यक्ष

आनंद मार्केट रिसर्च में काम करते हैं, और शब्दों में रूचि रखते हैं। किताबों के अपने शौक में वो खूब सारी किताबें पढ़ते हैं। लोगों से बातचीत, समाजशास्त्र, पौराणिक कथाओं, इतिहास से वो अक्सर रोचक कहानियां ढूंढ लाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here