Anand Kumar

  • रानी पद्मिनी के जौहर को इतिहास से मिटा कर “पद्मावती” करने की कुत्सित साजिशों के दौर में याद दिलाते चलें कि तीन जौहर का साक्षी सिर्फ चित्तौड़ ही नहीं रहा। तीन जौहर भोपाल के पास मौजूद रायसेन के दुर्ग की दीवारों न […]

  • “गैर-जिम्मेदार” क्या होता है इसे समझने के लिए सरकार पर एक नजर डालना काफी होता है। करीब तीस साल पहले बालासुब्रमन्यम को तीन महीने की जेल की सजा दी गई थी। वो आनन्द विविकतन नाम की एक तमिलनाडु की ओर के साप्ताहिक के स […]

  • एक रोज लगा कोई मुश्किल काम किया जाए, तो हमने इन्सेप्शन (Inception) फिल्म की कहानी लिख देने की कोशिश की। इस फिल्म की कहानी इतनी उलझी हुई सी और क्लिष्ट है कि लिखकर देखने पर लगा सारे तार उलझे हुए हैं। फिर […]

  • “तारे जमीन पर” फिल्म के गाने से “बम बम भोले” फिल्म का नाम उठाया गया और एक ईरानी फिल्म “चिल्ड्रेन ऑफ़ हेवन” से कहानी। इस तरह प्रियदर्शन की बनाई, दर्शील अभिनीत फिल्म “बम बम भोले” सन 2010 में आई थी। फिल्म की […]

  • तुम्हें याद हो कि ना याद हो ….
    उस ट्रेन का नाम साबरमती एक्सप्रेस था… 27 फ़रवरी 2002 को ये ट्रेन जब 7:43 में गोधरा से गुजरी तो ये ट्रेन भारत के और कई रेलगाड़ियों की तरह ही लेट थी | चार घंटे लेट |

    तुम्हें याद […]

  • बचपन में जब हमने ‘सिविक्स’ विषय में सशस्त्र सेनाओं की रैंक पढ़ी थी तब बताया गया था कि पुराने जमाने में सशस्त्र सेनाओं में कुल ग्यारह रैंक हुआ करती थी। आर्मी में सबसे ऊपर पाँच सितारा फील्ड मार्शल हुआ करते थे, […]

  • कहा जाता है कि सैनिक युद्ध लड़ते हैं जबकि राजनयिक युद्ध को टालने का प्रयास करते हैं। सन् 2011 से 9 अक्टूबर भारतीय विदेश सेवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। आईएफएस अधिकारी पूरे विश्व में भारत गणतंत्र का आधि […]

  • भारत ने अब तक चार युद्ध लड़े हैं जिनमें हमारे सैनिकों ने अप्रतिम शौर्य और साहस का प्रदर्शन किया है। प्रत्येक युद्ध का औपचारिक अथवा अनौपचारिक इतिहास लिखा गया है तथा पदक विजेता वीर सैनिकों की गाथाएं सुनाई जाती ह […]

  • आम तौर पर जब इतिहास लिखा जाता है तो वो राजाओं का इतिहास होता है। उसमें राजा का वर्णन होगा, कुछ मंत्री, कुछ सामंत होंगे। उसमें जनता नहीं होती। सबसे पहले तो यही अंतर “संस्कृति के चार अध्याय” को बाकी कित […]

  • तो पहला किस्सा है एक संत का। ये कई नामी गिरामी संत / महात्मा / विख्यात व्यक्तित्वों , के साथ जोड़ा जाता है। आखरी बार महात्मा गाँधी के नाम से जुड़ा पढ़ा था हमने। इसमें होता क्या है कि संत के पास एक औरत अपने बेटे के सा […]

  • शायद आपको संगीत पसंद होगा । ज्यादातर जिन लोगों को संगीत पसंद होता है उन्हें गाने भी पसंद होते हैं, हिंदी फिल्मों के रोज़मर्रा वाले । कभी-कभी हम सोचते हैं कि ऐसे गाने क्यों पसंद आते हैं ? इतने अजीब से होते हैं फि […]

  • कई बार जब गीत संगीत की बात होती है तो कुछ पुराने दौर के लोग कहने लगते हैं कि गाने तो हमारे ज़माने में बनते थे ! आजकल के गानों के भी कोई लिरिक्स हैं ? बकवास होता है सब | अब अच्छा और बुरा तो वैसे हर दौर में बनता ही […]

  • क्या हुआ ? अजीब सा शब्द लग रहा है ! वो इसलिए क्योंकि आपको आपकी नायिकाओं के नाम किसी ने बताये ही नहीं है। काफी साल पहले (सन 1779 में) चित्रदुर्ग पर मदकरी नायक का शासन था। उनके किले को हमला कर रहे हैदर अली की फौ […]

  • अपने आस पास मौजूद हथियारों की जानकारी होती तो क्या डॉक्टर नारंग की पत्नी उनकी मदद कर पाती ? आपको पता है अपने आस पास मौज़ूद हथियारों के बारे में ? ऐसे हथियार जो ना मेटल डिटेक्टर टेस्ट में रोके जा सकते हैं ना उन्हें […]

  • भौतिकी यानि फिजिक्स का इस्तेमाल कई जगहों पर होता है। ज्यादातर लोग इसे सीखने-सिखाने के आसान तरीके भूल जाते हैं और न्युमेरिकल्स (मैथ्स) से भरा कोई बोरिंग और कठिन विषय मान लेते हैं। बच्च […]

  • भगवद्गीता अगर आज पढ़ने-सीखने बैठें तो एक समस्या ये भी आती है कि पुराने दौर जैसा आज गुरु नहीं होते। इसकी वजह से ज्यादातर जिज्ञासु एक बार में उसे पूरा किसी किताब की तरह पढ़ने की कोशिश करेंगे, जबकि गुरु ऐसे नहीं सि […]

  • हिन्दू धर्म और इस्लाम मजहब में तमाम भिन्नताओं सहित एक प्रमुख अंतर है। वह ये है कि हिन्दू धर्म में कई रास्ते बताये गए हैं जो अंततः एक जगह जाकर मिलते हैं जबकि इस्लाम में बताये गए अलग-अलग रास्ते कई अलग मंज़िलों तक प […]

  • इर्ष्यावश पड़ोसी कोस सकता है, ताने मारने के लिए सास, चुगली करने के इरादे से सहकर्मी कोसते हैं, किन्तु जो निस्वार्थ भाव से अकारण ही कोसे वो लेखक का व्यंग ही होगा। किताब के बारे में ये जानकारी पहले ही पन्ने पर थी और […]

  • दैनिक पूजा पाठ तथा अनुष्ठान में सर्वाधिक महत्व किसी शब्द का है तो वह है “ॐ”। भगवान् शिव को समर्पित षडाक्षर मन्त्र ॐ नमः शिवाय का प्रथम अक्षर ॐ है। ॐ प्रणव है, त्रिविध तापों (आधिभौतिक, आधिदैविक, आध्यात्मिक) का नाश […]

  • नैरेटिव बिल्डिंग (Narrative Building) को हिंदी में आप कथानक गढ़ना कह सकते हैं, लेकिन भाव में बहुत फर्क आ जाता है। ये कुछ कुछ हिंदी के ‘जूठन’ को अंग्रेजी में ‘Leftovers’ कहने जैसा होगा। लेफ्टओवर से ये तो प […]

  • Load More