Home Random Musings

Random Musings

जाने भी दो यारों

कुंदन शाह को 1983 में बनी इस फिल्म के लिए अवार्ड मिला था। फिल्म की कहानी अंटोनीओनी की 1966 की फिल्म “ब्लोअप” से प्रेरित...

योर प्राइम मिनिस्टर इज डेड

डॉ. आर.एन.चुग उस दिन अपनी पत्नी और बच्चों के साथ कार से निकले थे जब एक ट्रक ने पीछे से उनकी कार को टक्कर...

इन्टरनेट और डिस्टर्बेंस

पांचवे #बिहार_डायलॉग में जब साइबर सिक्यूरिटी पर बात चली तो हमारे साथ इसके मनोवैज्ञानिक पहलुओं पर विमर्श करने के लिए डॉ. विनय कुमार भी...

शक्ति पूजन का पर्व

कभी कभी पशुओं के चोर की कहानियां पढ़ने में आती हैं जिनमें पशु चोर को काफी चतुर बताया जाता है। कहा जाता है कि...

तू ही तू… सतरंगी रे…

कई बार जब गीत संगीत की बात होती है तो कुछ पुराने दौर के लोग कहने लगते हैं कि गाने तो हमारे ज़माने में...

सोशल मीडिया से क्या फर्क पड़ता है?

किसी नेताजी ने अपनी फेसबुक पोस्ट में क्या लिख के रखा है इससे क्या फर्क पड़ता है? समाचारों में उन्हें देखने, सुनने, पढ़ने के...

बतख या हंस

एक दूर के गाँव में एक किसान रहता था। बहुत ज्यादा ज़मीन तो उसके पास नहीं थी, मगर उसके पास एक छोटा सा तालाब...

दानव का बगीचा

दानासुर दैत्य को लोग पसंद नहीं थे। इंसानों से उसे बड़ी चिढ़ होती थी। ऊपर से वो बड़ा स्वार्थी भी था। अपनी चीज़ें किसी...

बच्चे के लिए माँ का पहला दूध

रोते बच्चे को पिता की गोद में आराम ना मिले, चाचा-दादा, मौसी-नानी सब के पास रोता रहे तो भी माँ की गोद में जाते...

स्तनपान-परम्पराओं की ओर

मीठी-मीठी बातें ज्यादा सुनने को मिलती हैं, और सच कम सुनाई देता है। सिर्फ जानकारी का अभाव कारण नहीं, ऐसा सच के कड़वे होने...

Most Read