Home Random Musings on Bhagwad Gita

Random Musings on Bhagwad Gita

आरम्भ 12

बचपन में जो चीज़ें सबसे अनोखी लगती हैं, उनमें से एक होती है परछाई। कभी लम्बी हो जाती है, कभी छोटी हो जाती है।...

आरम्भ 11

जिस विधा को दर्शन कहते हैं उसके अपने अलग से प्रश्न हैं। जैसे ‘जीवन का उद्देश्य क्या है?’, ‘क्या इश्वर सचमुच है?’, ‘अगर इश्वर...

आरम्भ 10

आम तौर पर घर में एक ही टीवी होता है। बैठक में लगा होता है और पूरा परिवार देखता है तो कम से कम...

आरम्भ 9

आपने Objectve और Subjective के बारे में सुना तो जरूर होगा ? आजकल कई प्रतिवोगिता परीक्षाओं में Objective सवाल किये जाते हैं, Subjective का...

आरम्भ 8

सनकी राजाओं और उनके अजीबो-गरीब शौक का आपने सुना होगा। ऐसे ही एक अजीब से राजा को अपने राज्य के सबसे बड़े मूर्खों को...

आरम्भ 7

एक दिन एक गुरुकुल में गुरूजी ने अपने छात्रों को सिखाया कि हर जीव में परमात्मा का निवास है। इसलिए सभी जीवों से बराबरी...

आरम्भ 6

नक़्शे में ऊपर कि तरफ नार्थ होता है। बचपन में ही जब नक्शा देखना सिखाया जाता है तभी ये बता दिया जाता है। इसके...

आरम्भ 5

भारत में अभी का पढाई का तरीका देखेंगे तो शायद दर्ज़नों कमियां दिखेंगी। पाठ्यक्रम में किसी भी किस्म के बदलाव कि चर्चा भी कि...

आरम्भ 4

जिसे दर्शन शास्त्र कहा जाता है उसके हिसाब से हमारे धर्म को देखेंगे तो इसमें अद्वैत, द्वैत, विश्सिष्टाद्वैत, जैसे कई हिस्से होते हैं। भारत...

आरम्भ 3

स्कॉटलैंड नाम का एक देश हुआ करता था जो बाद में यूनाइटेड किंगडम का हिस्सा हो गया। अगर अंग्रेजी फिल्मों के शौक़ीन हैं तो...

Most Read