Home Political Satires

Political Satires

दो गावों की कथा

पुराने ज़माने में ही नहीं अभी भी अगर कोई कुछ सीखने निकलता है तो उसके लिए यात्राओं का बड़ा महत्व होता है | घर...

डालो लाल हवेली में

पुराने ज़माने में बिहार UP में अपराधियों की तूती बोलती थी | एक से एक सूरमा हुआ करते थे बिहार के एक डाकू तुतली...

राजा तो नंगा है

स्कूल के ज़माने में किस्से हिंदी की किताब में भी होते थे और अंग्रेजी की किताब में भी | दोनों में लेकिन राजाओं के...

जय और मौसी

आज के दिन जो कहीं "शोले" नामक कालजयी कृति बनाई जाती तो कैसा होता ?******************************************************************************************दिल्ली वाली मौसी : माफ़ करना बेटा, मगर लड़की का...

शेर और कूआं

कंप्यूटर लगातार चलाने के शारीरिक नुकसान कई लोगों ने गिनाये होंगे | आखें कमज़ोर हो जाती हैं, रीढ़ की हड्डी पर असर पड़ता है...

पोठी पढ़ी पढ़ी जग मुआ…

साधू अक्सर सज्जन होते हैं, कुछ कुछ साधू के भेष में लम्पट भी होते हैं | इतिहास के साथ अच्छी बात ये है की...

सांप्रदायिक कहीं का…

जवानी के दिन भी क्या दिन थे !!आह क्या गाने बनते थे फिल्मों के.. आज तक बजते हैं, मन्ना डे, आशा, किशोर दा, रफ़ी...

सलीम भाई की टांग

सलीम भाई बड़े परेशान थे, तबियत ठीक नहीं लग रही थी | पहले तो घर में इलाज़ हुआ फिर डॉक्टर के पास जाने की...

जैसे दुश्मन से लड़ने निकले थे खुद भी वैसे ही हुए...

हाल फ़िलहाल की सबसे मशहूर फिल्मों में से The Pirates of Caribbean भी होगी | दुनियाँ भर में खूब देखी गई, लगभग सभी किरदारों...

ये देवता था…

गाँव में किसी की मौत हो गई | मरने वाला महाजन था और सूदखोर भी था | लोगों से मनमाने ब्याज वसूलते वसूलते कईयों...

Most Read