Home Bihar

Bihar

धरहरा की बेटियां

जिन्हें पेड़ लगाने का अनुभव होगा, उन्हें पता होगा कि पेड़ को पाल कर बड़ा कर देना करीब करीब बच्चे को पालने जितना ही...

सत्ता और संघर्ष

इस से पहले की बिहार राजनीति के अपराधीकरण का जिक्र शुरू करें, एक पुरानी फिल्म “मुगले-आज़म” को याद करना अच्छा रहेगा | आम तौर...

साहेब नहीं रहे

चाय की दूकान पर बैठा पहला व्यक्ति : अरे लेकिन ये हुआ कैसे ? अचानक ! चाय की दूकान पर बैठा दूसरा व्यक्ति : अचानक...

मिशन इन्द्रधनुष : दोबारा इस्तेमाल ना हो सकने वाली सिरिंज

“गैर-जिम्मेदार” क्या होता है इसे समझने के लिए सरकार पर एक नजर डालना काफी होता है। करीब तीस साल पहले बालासुब्रमन्यम को तीन महीने...

दुर्दशा पर्यटन पर चलेंगे?

शायद अफ्रीका की एक तस्वीर कभी कभी इन्टरनेट पर भागती-दौड़ती दिखती थी, उसमें एक कुपोषित बच्चा बिलकुल मौत की कगार पर होता है। उसके...

Most Read