Home Bihar

Bihar

लोग क्या कहेंगे!

चार लोग सुनेंगे तो जाने क्या कहेंगे! ये जैसे और बहुत से लोगों के लिए एक बड़ा सवाल होता है वैसे ही सूबेदार पासवान...

बरसे कम्बल भीगे पानी

ये उल्टी बात मेरी (या मेरे जैसे किसी गधे की) नहीं है, ये कबीरदास जैसे समझदार लोग बरसों पहले कह गए हैं। इसे काम...

फुटबॉल और बाल-विवाह

सदियों पहले जब पश्चिमी देशों को भारत पर कब्ज़ा जमाने की जरूरत पड़ी तो वो समुद्री रास्ते से भारत आये। पुर्तगाली उस दौर में...

धरहरा की बेटियां

जिन्हें पेड़ लगाने का अनुभव होगा, उन्हें पता होगा कि पेड़ को पाल कर बड़ा कर देना करीब करीब बच्चे को पालने जितना ही...

सत्ता और संघर्ष

इस से पहले की बिहार राजनीति के अपराधीकरण का जिक्र शुरू करें, एक पुरानी फिल्म “मुगले-आज़म” को याद करना अच्छा रहेगा | आम तौर...

साहेब नहीं रहे

चाय की दूकान पर बैठा पहला व्यक्ति : अरे लेकिन ये हुआ कैसे ? अचानक ! चाय की दूकान पर बैठा दूसरा व्यक्ति : अचानक...

मिशन इन्द्रधनुष : दोबारा इस्तेमाल ना हो सकने वाली सिरिंज

“गैर-जिम्मेदार” क्या होता है इसे समझने के लिए सरकार पर एक नजर डालना काफी होता है। करीब तीस साल पहले बालासुब्रमन्यम को तीन महीने...

दुर्दशा पर्यटन पर चलेंगे?

शायद अफ्रीका की एक तस्वीर कभी कभी इन्टरनेट पर भागती-दौड़ती दिखती थी, उसमें एक कुपोषित बच्चा बिलकुल मौत की कगार पर होता है। उसके...

Most Read